Mechanical Engineer, Columnist, fan of AK, KV

हम तो छुट्टी पर हैं । दिल्ली से बहुत दूर देश के दूसरे छोर पर । उमेश पांडे नामक एक क्यूट लफंदर के वट्सएप की सूचना मिली है । क्यूट लफंदर वो होता है जो मौका देखकर किसी के बारे में अफवाह फैला देने का प्रयास करता है
            इस क्यूट लफंदर के अनुसार  अरविंद छिपकली भी खाता है, पर अरविंद क्या खाता है, आखिर ये कौन जाकर चेक करेगा? ऐसे लोगों के दम पर राष्ट्रवाद का घुघनी बन
जाएगा । कौन सब है ये जिनके पास इतना फालतू टाइम है । पांडे मोहल्ले का नाकाम लफंदर रहा होगा । लड़कों से कभी भाव नहीं मिला होगा । ऐसे लोग बड़े होकर अपनी कुंठा किसी और पर निकालते हैं । पांडे जो वट्सएप पेज Radhey Krishna लिखते हैं को पोस्ट कर रहा हूँ ।

image

ऐसे लोग का राष्ट्रवाद झूठ और अफवाह के बिना गुंडई का ज़िला संस्करण लगता है । हद है आप जिस विचारधारा के गुप्त गुंडे हैं, वो किसी संगठन के लिए काम करता होगा।

कुछ ही तो वाक्य हैं बाज़ार में
जिन्हें तल कर
जिनसे छन कर
वही बात हर बार निकलती है

बालकनी के बाहर लगी रस्सी पर
जहाँ सूखता है पजामा और तकिये का खोल
वहीं कहीं बीच में वही बात लटकती है
जिन्हें तल कर
जिनसे छनकर
वही बात हर बार निकलती है

बातों से घेर कर मारने के लिए
बातों की सेना बनाई गई है
बात के सामने बात खड़ी है
बात के समर्थक हैं और बात के विरोधी
हर बात को उसी बात पर लाने के लिए
कुछ ही तो वाक्य हैं बाज़ार में
जिन्हें तल कर
जिनसे छनकर
वही बात हर बात निकलती है

लोग कम हैं और बातें भी कम हैं
कहे को ही कहा जा रहा है
सुने को ही सुनाया जा रहा है
एक ही बात को बार बार खटाया जा रहा है
रगड़ खाते खाते बात अब बात के बल पड़ने लगे हैं
शोर का सन्नाटा है, तमाचे को तमंचा बताने
लगे है
अंदाज़ के नाम पर नज़रअंदाज़ हो रहे हैं हम सब
कुछ ही तो वाक्य है बाज़ार में
जिन्हें तल कर
जिनसे छनकर
वही बात हर बार निकलती है ।

बात हमारे बेहूदा होने के प्रमाण हैं
वात रोग से ग्रस्त है, बाबासीर हो गया है
बातों को बकैती अब ठाकुरों की नई लठैती है
कथा से दंतकथा में बदलने की किटकिटाहट है
चुप रहिए, फिर से उसी बात के आने की आहट है ।

अब भाषण सुनिये मित्रों

              हमें गाली देने वालों को जो तृप्ति मिलती है उससे मुझे खुशी होती है । कम से कम मैं उनके किसी कम तो आता हूँ । अगर किसी को गाली देना संस्कार है तो इसकी प्रतिष्ठा के लिए मैं लड़ने के लिए तैयार हूँ । इसीलिए गाली का एक नमूना लगा दिया । कविता पहले लिखी जा चुकी थी । वर्ना ये किसी भदेस गाली के सम्मान में लिखी गई कविता हो सकती थी । पहली है या नहीं, पता नहीं। फिर भी मैंने लिखा है ।

            गाली देने वाले वैचारिक लोगों एक बात ध्यान से सुन लो। तुम जितनी संख्या में हो,
उससे कहीं ज़्यादा केजरीवाल को चाहने वाले हैं। उनके प्यार की खुश्बू में तुम्हारी गालियों की शोर सुनाई नहीं देती मुझे। यहां इसलिए लिख रहा हूं कि बड़े होकर तुम्हारे बच्चों ने,
ने यह सब देख लिया तो उन्हें शर्म आएगी कि मेरे बाप चाचा ने किसी विचारधारा के
प्रसार के लिए क्या क्या गालियां दी हैं।

                 तुम उस विचारधारा को गर्त में पहुंचा दोगे। तो मैं तुम्हारी विचारधारा की रक्षा के
लिए भी लिख रहा हूं। अब सबको बताना कि अरविंद केजरीवाल वो शख्स हैं जिनके काम की चर्चा सारी दुनिया में है।
1 time IIT , 1st time UPSC EXAM Passed,  23 Year age VAT Commissioner, 1st time CM.

332 Days Record of Arvind Kejriwal lead Delhi Government
http://www.elections.in/delhi/kejriwal-government/

                  मैं भारत माता की तरफ से तुम्हें माफ करता हूं। मुझे पता है कि तुम एक अच्छे इंसान हो। तुम्हें किसी ने बहका दिया है क्योंकि तुम्हारा इस्तमाल किसी पर ईंट फेंकने, किसी पर थूकने के लिए होना है। ये इसलिए होना है कि तुम्हारे ऐसा करने से कुछ लोग डर जायेंगे और वो, जिस तक तुम तमाम ज़िंदगी में नहीं पहुंच पाओगो, सत्ता के शिखर पर राज कर सके।

अरे बंधु इतनी घृणा क्यों करते हैं । आपसे गाली देने के अलावा कुछ और नहीं हो पा रहा है तो नवीन कार्यों के चयन में भी मदद कर सकता हूँ ।

                  मित्र पता है मुझे लगता है कि कोई तुम्हें ब्लैक मेल कर रहा है। मित्रों, हम किसके लिए सनक रहे हैं। क्या इस देश में बहुत सारे अच्छे और सस्ते अस्पताल बन गए हैं, क्या सरकारी स्कूलो की हालत इतनी बेहतर हो गई है वहां एडमिशन के लिए लोग मार
कर रहे हैं, क्या सबको नौकरी मिल गई है। क्या दवाएं सस्ती हो गईं हैं, क्या सबके पेंशन
का इंतज़ाम हो गया है, । प्लीज आई टी सेल में बर्बाद हो रहे हमारे नौजवानों को बचा
लीजिए । इन लड़कों का कोई क़सूर नहीं है । कोई इन्हें अपने हित में जला रहा है । मैंने उन्हें
बचाने के लिए लिखा है ।

जय हिन्द ।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: